कब ख़त्म होगा जलापूर्ति का संकट

0
55

कुशीनगर(ब्यूरो)- जनपद में जलापूर्ति का संकट खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। पेयजल की समस्या को लेकर विभागीय उदासीनता कम न हो रही है। नागरिक पानी के संकट से जूझ रहे हैं। गांवों के इंडिया मार्क टू हैंडपंप पीला पानी उगल रहे हैं। कोई विकल्प न होने से लोग दूषित पानी पीने को विवश हो रहे हैं।

संक्रामक बीमारियों को लेकर लोग सशंकित हैं। गर्मी के कारण उमस बढ़ रहा है। जलापूर्ति की समस्या चिंता में डाल रही है। कोई ऐसा गांव नहीं जहां पानी की व्यवस्था से सभी खुशहाल हों। स्थाई समस्या बन रहा जलापूर्ति का संकट सिरदर्द बन गया है। गला तर करने के लिए सार्वजनिक स्थलों की ओर दौड़ लगाने वाले लोग उदास होकर लौट रहे हैं। कुशीनगर, तमकुहीराज, खड्डा, कप्तानगंज, रामकोला, सेवरही में जो टोटी महीनों पूर्व खराब हुई उनके मरम्मत का कोई इंतजाम अभी तक नहीं किया गया।

शिकायतों का संज्ञान न लेने से समस्याएं जस की तस हैं। कलेक्ट्रेट परिसर के दक्षिणी हिस्से में लगा इंडिया मार्क टू हैंडपंप, नगर के रोडवेज परिसर में लगा इंडिया मार्क-टू हैंडपंप खराब पड़ा है। जनहित की इस समस्या के प्रति उदासीनता इस कदर की यहां आने वाले लोगों को यह पूरी तरह से खटक रहा है। गरुण नगर, वाणी टोला, छावनी, वीर अब्दुल हमीद नगर, हरिहर छत्तर, जय प्रकाश नगर, रामलीला मैदान, हाथीसार आदि मोहल्लों में समस्याएं पूरी तरह से खत्म नहीं हो पा रही हैं।

खड्डा विकास खंड के ग्राम पंचायत कुनेली पट्टी में एक वर्ष से चार इंडिया मार्क हैंड पंप खराब पड़े हुए हैं। जूनियर हाईस्कूल परिसर कुनेली पट्टी में, चौराहे पर, कुआं पर लगा पंप महीनों से खराब पड़ा है। ग्रामीणों द्वारा ग्राम विकास अधिकारी को सूचना देने के बावजूद हैंडपंप की हालत जस की तस बनी हुई है। नगर पंचायत खड्डा द्वारा विभिन्न चौराहों पर लाखों खर्च करके बनाये गये पानी के टोटी पानी के बिना अपना अस्तित्व निहार रहें है।

पानी एवं छाया के इन स्थानों पर पानी एवं साफ सफाई भले न की जाती हो, परन्तु वहाँ शिलान्यास और उद्घाटन के लगे संगमरमरी पत्थर राहगीरों को मुँह चिढ़ाते हैं।
नगर पंचायत निवासी सतीश तिवारी, राजू पाण्डेय, बृजेश, शंकर, मनोज, राजकुमार ने इस भीषण गर्मी को दृष्टिगत रखते हुये ठीक कराने की मांग की है।

रिपोर्ट-राहुल पाण्डेय

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY