ईश्वर कहाँ हैं ?

0
1148

आधी से ज्यादा दुनिया जब से अस्तित्त्व में आयी हैं तब से ही बड़े-बड़े ग्यानी इस बात की खोज में अपना पूरा जीवन बिता देतें हैं कि ईश्वर कहाँ हैं I इस पर प्रकाश डालते हुए आचार्य चाणक्य ने एक ही लाइन में यह बता साबित कर दी हैं कि वास्तव में आखिर ईश्वर हैं कहाँ –

आचार्य चाणक्य के अनुसार –

ईश्वर चित्र में नहीं चरित्र में बसता हैं ! आप अपने ह्रदय को मंदिर बना लो ईश्वर के दर्शन अपने आप ही हो जायेंगे !!

chanakya

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

5 × one =