सट्टे व जुये के संचालकों पर क्यों नहीं होती कार्यवाही?

0
80
प्रतीकात्मक

जालौन(ब्यूरो)- नगर में जगह, जगह सट्टे के नंबर लगाए जा रहे हैं एवं घरों में जुआ के फड़ सज रहे हैं। जिसके कारण तमाम घर बर्बादी की कगार पर पहुंच गए हैं। इसके बाद भी जिम्मेदार इसके संचालकों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर पा रहे हैं।

कानूनी अपराध के साथ-साथ सामाजिक बुराई के रूप में पहचानी जाने वाली बुराई जुआ पर प्रशासन रोक नही लगा पा रहा है। सपा सरकार में जुआ पर प्रशासन कोई अन्य सफेदपोश करते थे, सरकार बदलते ही इनके संचालक भी बदल गए। नगर व ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार जुआ के अड्डे संचालित हो रहे हैं। नगर में संभ्रांत लोगों एवं सफेदपोशों के घरों में जुआ के अड्डे संचालित हो रहे हैं तो ग्रामीण क्षेत्रों में मंदिरों एवं तालाबों के किनारे सार्वजनिक स्थलों पर हारजीत की बाजी लग रही है। नगर के मोहल्ला तोपखाना, हरीपुरा, बालाजी मंदिर, फर्दनवीस, भवानीराम में चिकित्सालय के पीछे, मोहल्ला जोशियाना में तालाब के पास, मोहल्ला काशीनाथ में शाखा कार्यालय के पास, मोहल्ला कटरा में टॉवर के पास एवं गांवों में सिहारी पड़ैया में तालाब के पास, उरगांव में किलकिलया मंदिर, नैनपुरा में पंचायतघर के पीछे, ऐदलपुर में पंचायत भवन के पास, वीरपुरा में पीपल के पेड़ के नीचे, मांडरी व भदवां में स्कूल के पास समेत तमाम जगह खुलेआम जुआ चल रहा है।

नगर में जुए के अलावा सट्टे का कारोबार भी जमकर फल फूल रहा है। सट्टे में बच्चे, बूढे समेत महिलाऐं भी जमकर अपनी किस्मत आजमा रही हैं। सट्टा किंग की दिसावर के 00 से 99 तक के नंबरों पर जमकर सट्टा लग रहा है। चौकी की नीचे फल की ठिलिया, पानी की टंकी के पीछे, मोहल्ला काशीनाथ में खंभा नंबर 307, चुर्खीबाल में मंदिर के पास, तकिया के पास, मुरली मनोहर, कंजर कॉलोनी, बंबई वाले मंदिर के पास जमकर सट्टा लगाया जा रहा है। सत्ता पक्ष के नेताओं के संरक्षण में चल रहे सट्टे के कारण तमाम घर बर्बाद हो गए हैं। इसके बाद भी पुलिस कठोर कार्रवाई नहीं कर पा रही है। अब आलम यह हो गया है कि युवा रोजगार के लिए 8 प्रतिशत कमीशन पर सट्टा लिख रहे तथा अपने परिचितों के साथ नाते रिश्तेदारों को हसीन सपने दिखा कर महिलाओं तक कोई इस खेल दिलचस्पी दिला रहे हैं। जिसके कारण नगर में स्थित दिन प्रतिदिन खराब हो रही है। कई घर भुखमरी के कगार पर पहुंच गये हैं। जब इस संबंध में अपर पुलिस अधीक्षक से बात की गई तो उन्होंने भरोसा दिलाया के शीघ्र ही इनके संचालकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

रिपोर्ट- अनुराग श्रीवास्तव 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY