आखिर पुलिस क्यों नहीं दर्ज करती मुक़दमा

0
85

अमेठी। सूबे की योगी सरकार भले ही सबका साथ सबका विकास के एजेंडे पर कार्य जराने का प्रयास कर रही हो। सरकार पुलिस की कार्यप्रणाली को सुधारने के लिए बड़े पैमाने पर फेरबदल किया लेकिन पुलिस दशा और दिशा में बहुत कुछ बदला नहीं दिख रहा है। अमेठी पुलिस किस एजेंडे पर कार्य कर रही है उदहारण के तौर पर एक प्रकरण की बात करते है|

ताजा मामला जिले के मुख्यालय गौरीगंज से सम्बंधित है जिसमे पीड़ित मुक़दमा दर्ज करने के लिए थाने का चक्कर लगा रहा है और थानेदार साहब शाम को आना, कल आना कह कर हैरान व परेशान कर रहे है| ऐसा कुछ आरोप है पीड़ित का।  बताते चले कि पीड़ित देवेन्द्र कुमार मिश्र पुत्र पृथ्वीपाल मिश्र निवासी पुरे जिया मिश्र राघीपुर थाना गौरीगंज जनपद अमेठी ने नामजद लोगो के विरुद्ग तहरीर दी लेकिन अभी तक मुक़दमा दर्ज नहीं हुआ है।

पीड़ित ने तहरीर में लिखा है कि बीते 3 जून को शाम 8 बजे पीड़ित धन का बीज खरीदकर कर अपने घर जा रहा था साथ ने श्रीनाथ पुत्र राम आधार पासी भी था जैसे ही पीड़ित सेठा रोड ओवरब्रिज से 50 मीटर आगे निकाला पहले से ही घात लगाये बैठे रोहित शर्मा व राहुल शर्मा पुत्र अवधेश नाथ शर्मा निवासी पुरे मदन सिंह का पुरवा मजरे वालीपुर खुर्दवा सहित 3 अन्य अज्ञात लोग जिनको देखने पर पीड़ित पहचान सकता है, पीड़ित की गाड़ी रोककर प्राणघातक हमला कर दिए। हमले में पीड़ित को चोटे आई और पीड़ित के साथी ने भागकर गुहार लगाई तो आसपास के लोग के पहुच जाने से पीड़ित की जान बचीं।

पीड़ित ने अपनी तहरीर में लिखा है की आरोपी लोगो ने भागते समय जान से मारने की धमकी भी देकर गए है। पीड़ित को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया हालात गंभीर देखते हुए डॉक्टरों ने मेडिकल कॉलेज लखनऊ भेज दिया। इलाज के बाद पीड़ित ने थाने में तहरीर दी है लेकिन मुक़दमा दर्ज नहीं हुआ है। अब सवाल यह उठता है कि पीड़ित का मुक़दमा अभी तक क्यों दर्ज नहीं हुआ है। क्या घटना को पुलिस झूठ समझ रही है या फिर कही से कोई बड़ा दबाव है की मुक़दमा दर्ज न किया जाय। या फिर यह कहा जाय की यह गौरीगंज पुलिस की कार्यशैली में शामिल है। बाते कुछ भी हो पीड़ित का मुक़दमा दर्ज न होना कही न कही पुलिस के कार्यशैली पर सवाल खड़ा कर रहा है।

रिपोर्ट-हरि प्रसाद यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here