जिले में मतदान के बाद शुरू हुई जीत-हार की कयासबाजी

0
77

रायबरेली। जनपद की छः विधान सभा सीटों के लिये 23 फरवरी को सम्पन्न हुये मतदान के बाद शुक्रवार को पूरा दिन शहर सहित जिले के अन्य हिस्सों में कयासबाजी का दौर जारी रहा। महाशिवरात्रि का पर्व होने के कारण इस अवसर पर लगने वाले मेलों में भी मतदान को लेकर अटकलबाजी का दौर जारी रहा।

जनपद में मतदान के बाद शुक्रवार को अजीब सन्नाटा दिखा और जहां-तहां लोग यही चर्चा करते रहे कि इस बार किस सीट पर कौन जीतेगा और कौन हारेगा। चर्चा के इस क्रम में तथाकथित राजनैतिक धुरंधरों पर भी चर्चा हुई। जिसपर अधिकांश का यह मत था कि इस बार यह सब औकात में आ जायेंगे। मतदान का प्रतिशत बढ़ने के कारण प्रत्येक विधान सभा में परिणाम भी चैकांने वाले आ सकते हैं। ऐसा अधिकांश लोगों का मत था। मतदान का प्रतिशत विधान सभा सलोन व बछरांवा में कम होने का कारण यहां पर विभिन्न दलों द्वारा उतारे गये नये प्रत्याशियों का जनता के गले न उतरना भी बताया जा रहा है। फिलहाल जनपद की छः विधान सभाओं के लिये सम्पन्न हुये मतदान में मतदाताओं ने पहली बार अपने विवेक का इस्तेमाल किया। उन पर किसी राजनेता या दलाल के प्रभाव व लालच का असर नहीं देखा गया।

जनपद में विधान सभा की छः सीटों के लिये हुये मतदान में कुल 61.3 प्रतिशत मतदान हुआ। जिसमें 180 रायबरेली में मतदाता 350868 पर मतदान 61.2 प्रतिशत, 183- ऊॅचाहार में मतदाता 324715 पर मतदान 63.91 प्रतिशत, 182- सरेनी में मतदाता 350151 पर मतदान 58.65 प्रतिशत रहा जबकि वि0स0क्षे0 177 बछरावां में मतदाता 312397 पर मतदान 63.45 प्रतिशत, 179 हरचन्दपुर में मतदाता 302418 पर मतदान 62.24 प्रतिशत, 181- सलोन में मतदाता 339813 पर मतदान 58.33 प्रतिशत हुआ। इस प्रकार जनपद में कुल मतदाता 1980362 मतदान पर 61.3 प्रतिशत रहा है। जिसके लिए 2073 मतदेय स्थलों, 1447 पोलिंग सेन्टर बनाये गये तथा व्यापक व्यावस्थायें की गयी। सबसे अधिक मतदान ऊचाहांर विधान सभा में 63.91 प्रतिशत तथा सबसे कम सलोन विधान सभा में 58.33 प्रतिशत मतदान सम्पन्न हुआ।
रिपोर्ट राजेश यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY