शराब की दुकानें खुलने से बवाल, महिलाओं ने किया जाम

0
147

बिरनो/गाजीपुर- गाजीपुर शहीद जवान मनोज कुशवाहा के बद्धूपुर स्थित घर के पास अंग्रेजी, देशी शराब सहित बीयर की दुकानें एक साथ खुलने से ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। पुरुष संग महिलाओं ने भी रास्ता जाम कर दिया। उनका कहना था कि एक ओर तो हाइवे से शराब की दुकानें हटाई जा रही हैं और दूसरी ओर उन दुकानों को घनी आबादी के बीच स्थापित किया जा रहा है। फिर शहीद का भी सम्मान नहीं किया गया।

ठेकेदारों ने अपनी मर्जी से दुकानें शहीद के घर के पास खोल दी। यह कतई बर्दाश्त नहीं होगा। उनके हाथों में तख्तियां थीं। जिन पर लिखा था शहीद गांव में शराब की दुकान बंद करो-शहीदों को श्रद्धांजलि दो। मामले की गंभीरता देख एसओ बिरनो टीबी सिंह मय फोर्स मौके पर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों को भरोसा दिया कि शराब की दुकानें शहीद के घर के पास नहीं खुलेंगी। उसके बाद रास्ता जाम खत्म हुआ। जाम करने वालों में खुद शहीद मनोज की मां शीला देवी के अलावा ग्राम प्रधान आकाश राजभर सहित प्रियंका कुशवाहा, लीलावती, संतरा देवी, विमला, कैलाश राम, शशि मौर्य, गुड्डू राजभर, पांचू प्रसाद, सुनील कुशवाहा, प्रकाश कुशवाहा, नंदलाल कुशवाहा, रामदरश राम, कैलाश यादव आदि थे। मालूम हो कि पिछले साल गांव के जाबांज जवान मनोज कुशवाहा कश्मीर में पाकिस्तान के घुसपैठियों के हाथों शहीद हो गया था। उसकी बहादुरी पर गांव के लोगों को आज भी नाज है।

रिपोर्ट- डा०विजय प्रकाश यादव
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here