पांच दिनों के अनशन के बाद पाँच अनशनकारी महिला की हालत बिगड़ी

0
79

समस्तीपुर ब्यूरो : समस्तीपुर प्रखंड के रूपनारायण बेला पंचायत में मनरेगा में हुई धांधली की जांच की मांग को लेकर समाहरणालय के समक्ष सरकारी बस पड़ाव में बैठी पांच महिलाओं की हालत काफी बिगड़ गई है, अभी तक किसी भी अधिकारी ने इस ओर ध्यान देने की जरूरत नहीं समझी है | अनशन पर बैठने वाली महिलाओं में शोभा देवी, रिंकू देवी, जानकी देवी, आशा देवी आदि सभी इसी पंचायत की रहने वाली बताई गई है |

अनशन पर बैठी हुई आशा देवी एवं रिंकी देवी की हालत काफी गंभीर होता देख दोनों को सदर अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है | इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाकपा माले नेता सह इनौस जिला अध्यक्ष सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि इसे ही अफसरशाही कहते हैं, पांच दिनों की भूख से अनशनकारी महिलाओं की पेट एवं पीठ मिलकर एक हो गई है, लेकिन किसी ने भी अभी तक इनकी सुधी लेने की जहमत नहीं उठाई है, उन्होंने कहा कि इससे यह साबित होता है कि प्रशासन घोटाले के मामले को नजरअंदाज कर रहा है, माले इस लड़ाई को अब मुकाम तक पहुंचाने का निर्णय ले चुका है |

बता देें कि पंचायत में की गई सड़क निर्माण के मामले में अभी तक ईंट-सोलिंग की जांच-पड़ताल नहीं कराई गयी है, साथ ही इसमें काम करने वाले मनरेगा मजदूरों को अभी तक भुगतान भी नहीं किया गया है, आरोप यह भी लगाया गया है कि प्रशासन पंचायत के जनप्रतिनिधि के इशारे पर इस तरह का काम कर रही है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here