परशदेपुर में चोटी कटवा से बचने के लिए महिलाये लेने लगी है टोटका का सहारा

परशदेपुर/रायबरेली (ब्यूरो)- जहां पूरे भारत मे चोटी कटवा की दहशत सर चढ़ कर बोल रही है उसी क्रम में रायबरेली ज़िले में हर थाना क्षेत्र से लगभग पिछले एक हफ्ते से हर रोज़ 7 -8 घटनाए सामने आ रही हैं।लोगो में अलग अलग चर्चा हो रही है कोई बोल रहा है कि कोई चुड़ैल है तो कोई बोलता है कि काली बिल्ली है जो फौरन गायब हो जाती है कोई बोलता है कि कोई कीड़ा है जो बालों पे बैठ जाता है तो बाल कट के गिर जाते हैं।

अब लोगो मे दहशत इस क़दर घर कर गई है कि अब महिलाओ ने घर मे टोटके करना शुरू कर दिया है।परशदेपुर तथा आस पास के गांवों में लोग अब टोटके करने लगे है जिससे वो कथित चोटी कटवा से बचे रहें।ग्रामीण महिला सुशीला  ने बताया कि घर के दरवाजे पे पूजा करके हाथ के पंजे से दरवाज़े के पास गेरू और हल्दी के लेप से 7 ठप्पा लगाने और घर के दरवाजे पे निम्बू और नीम की पत्तियों को टांगने से कोई बुरा साया घर नही आ सकता। सोचने वाली बात ये है कि अभी तक जितनी भी घटनाए हुई है ज़्यादातर घटनाओ में भुक्तभोगी महिला बेहोश हो जाती है और उनका ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ मिलता है।

कुछ भी हो लेकिन अभी तक किसी को कुछ समझ नही आ रहा है ।प्रशासन भले ही इसको अफवाह बताए लेकिन अभी तक कि घटनाओ में प्रसाशन भी  कोई ठोस नतीजे पे नही पहुचा।अगर इन कटे हुए बालो की फॉरेंसिक जाँच   हो तो शायद कोई नतीजा निकल के सामने आए की ये बाल कैंची से कोई काट रहा है या कोई और वजह से महिलाओ के बाल कट रहें हैं।कुछ भी हो इस तरह की घटनाओं के पीछे जो भी कारण हो जल्द से जल्द सामने आना चाहये जिससे महिलाओं में डर की भावना खत्म हो सके।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY