दारू की दुकान खुलने का महिलाओं ने किया विरोध, लगाया सेल्समैनो पर मारने पीटने का आरोप

0
168

चंदवक/जौनपुर (ब्यूरो)- क्षेत्र के खलियां गांव स्थित डॉ0 के एन पाण्डेय के पीछे प्राथमिक विद्यालय से लगभग 150 मीटर की दुरी पर चंदवक थुन्ही मार्ग पर अंग्रेजी शराब व बीयर की दुकान एक ही जगह राधे मोहन सेठ के मकान में खुली की आस पास रह रहीं तमाम महिलाये अल सुबह ही दुकान बंद करने को कहने लगी क्यों की एक ही दिन में शराबियो की हुल्लड़ पन रहवासी महिलाओ को अपनी बहु बेटियो के साथ रहने में ना गवार सा लगा।

दुकान बंद करने को लेकर पचासों की संख्या में महिलाये दुकान पर तांडव के बाद थाने पहुँच कर थानाध्यक्ष के समक्ष अपनी बात के साथ उक्त स्थान पर दुकान न खोलने हेतु मांग की और विवाद में महिलाओ ने अपने अपने चोटिल हाथो को दिखाते हुए सेल्स मैनो पर मारने पीटने का आरोप लगाया। थाने पर महिलाओ ने प्रदर्शन कर एस ओ अनिल सिंह से दुकान के क्षेत्र का जायज़ा लेने का आग्रह किया।

देशी शराब ठेका के जगह पर एस ओ ने पहुँच कर देखा तो “साहिब बंदगी” धर्म स्थल से मात्र पचास मीटर ही था तो थाना ध्यक्ष ने तत्काल दुकान बंद करा कर वहा से हटाने हेतु निर्देशित किया। दूसरी तरफ राधे मोहन सेठ के मकान हेतु अंग्रेजी व बीयर के ठेकेदारों से कहा की आप आपकारी विभाग के उच्चाधिकारी से नियमावली पत्रक लाईये तभी दुकान खहुलेगी तब तक के लिए दुकान बंद रहेगी।

ज्ञात हो की देशी दारू की दुकान मुन्ना सोनकर की पत्नी के नाम से एलाट कॉलोनी (इंदिरा आवास)में ही खुला था जिसे गरीबो हेतु रहने के लिए सरकार एक कमरा का मकान बना कर देती है। प्रदर्शन कर रही महिलाओ में सुनीता रेनू मंजू गुड़िया,इंदु मिश्रा,शीला चंदा तुलसा,सफ़िया चमेला सहित पचसीओ की संख्या में थी।

रिपोर्ट- डॉ. अमित कुमार पाण्डेय

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here