लाठी-डंडा व झाड़ू के साथ तहसील में पहुंची महिलाएं

बलिया(ब्यूरो)- बैरिया कस्बा से भोजापुर मार्ग पर संचालित शराब की दुकानों को हटाने की मांग को लेकर सैकड़ो महिलाओ ने तीसरी बार बुधवार को हाथ मे झाड़ु व डंडा लेकर तहसील के मुख्य गेट के अन्दर धरना प्रदर्शन किया। उग्र महिलाओ द्वारा तहसील व जिला प्रशासन के खिलाफ जम कर नारेबाजी भी की गयी। धरना प्रदर्शन में आई महिलाये इतनी उग्र थी कि वार्ता कर रहे नायब तहसीलदार शशिकांत मणि व बैरिया पुलिस के साथ मारपीट तक करने पर उतारू हो जा रही थी।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के उपरान्त अंग्रेजी, देशी व बियर की दुकानों को एनएच से हटाकर बैरिया भोजापुर मार्ग पर एक ही जगह तीनो दुकान स्थापित कर दिया गया, इसके बाद से ही यहा शाम ढलते ही शराबियों का जमावड़ा लगने लगा| जिससे इस मार्ग से भोजापुर, लक्ष्मीपुर, सावन छपरा, बैरिया के महिलाओ को इस सड़क से आवा गमन करते समय शर्मसार होना पड़ रहा है| शराब के दुकानों के आस पास पांच विद्यालय भी स्थापित है, साथ ही आबादी क्षेत्र है।

करीब 15 दिन पहले इस सड़क मार्ग से जाने वाली दो महिलाओं के साथ शराबियो द्वारा छेड़खानी भी किया गया है, जिससे आक्रोशित चारो गांव की सैकड़ो महिलाओ ने हाथ मे झाड़ु व डंडा लेकर उस समय बैरिया तिराहे पर स्व. बाबू मैनेजर सिंह के मूर्ति के सामने एनएच को जाम कर उग्र प्रदर्शन किया था| तब एसडीएम अरविन्द कुमार सहित आला अधिकारियो के आश्वासन पर धरना समाप्त हुआ था।

पुन: बीच मे महिलाओ ने एसडीएम को पत्रक दिया था कि चार जुलाई तक शराब की दुकानों को नही हटाया गया तो पांच जुलाई को धरना प्रदर्शन करेंगे।शराब की दुकान पूर्व की भांति चलती रही, जिससे नराज सैकड़ो महिलाये पूर्व सूचना के मुताबिक बुधवार को तहसील पहुच उग्र प्रदर्शन किया। तहसील में मौजूद नायब तहसीलदार शशी कांत मणि ने उच्चाधिकारियो से वार्ता कर महिलाओं को आश्वासन दिया कि जब तक आप लोगो के समस्या पर कोई फैसला नही ले लिया जाता है, तब तक शराब की दुकान बंद रहेगी।

महिलाओ ने पत्रक सौप चेतावनी दिया कि अगर जल्द शराब की दुकान नहीं हटी तो मुख्य तहसील दिवस के दिन धरना प्रदर्शन करने के लिए बाध्य होंगे। चेतावनी के साथ धरना प्रदर्शन समाप्त किया। सुगंती देवी, मुन्नी देवी, ज्ञान्ति देवी, कलावती, चंदा, मीरा देवी, संगीता, रेखादेवी, कुंती, प्रमिला, चन्द्रावती, सोनामती, कविता देवी आदि सैकड़ों महिलाएं रही।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here