मजबूर श्रमिकों ने प्रशासन से लगाईं मदद की गुहार, प्राइवेट कंपनी ने हड़पे श्रमिकों की मेहनत की कमाई के लाखों

0
191


गौतमबुद्ध नगर (ब्यूरो) एक तरफ जहाँ सरकार सबका साथ सबका विकास की बात कर रही है वहीं दूसरी तरफ प्राइवेट कंपनियां गरीब तबके का शोषण कर रही हैं, और इनमे भी कंस्ट्रक्शन कंपनियां सबसे आगे हैं | ये प्राइवेट कंपनियां गरीबों के लिए सरकार द्वारा बनाये गए नियमों को तो दरकिनार करती ही हैं साथ ही उनकी म्हणत की कमी हड़प जाने की फिराक में भी रहती हैं |

जनपद गौतमबुद्ध नगर में एक ऐसा ही मामला उजागर हुआ है जहाँ एक कंस्ट्रक्शन कंपनी की मनमानी के चलते करीब 88 गरीब श्रमिकों का परिवार भुखमरी की कगार पर पहुँच गया है | जनपद के ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के गौर सिटी-II में स्थित कंपनी एसेंट कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड ने करीब 88 मजदूरों को नाही उनकी श्रम सुविधाएं दी और ना ही उनकी दिहाड़ी | कंपनी द्वारा पैसा ना मिलने से इन मजदूरों के परिवार भुखमरी की कगार पर पहुँच गए हैं, जिसके बाद श्रमिकों ने जिला प्रशासन से उनको न्याय दिलाये जाने की गुहार लगायी है |

इस बाबत आज सभी श्रमिकों ने इकठ्ठा होकर यूनाइटेड ट्रेड्स यूनियन कांग्रेस के नूर आलम की अगुवाई में उपश्रमायुक्त गौतम बुद्ध नगर को प्रार्थना पात्र सौपा है और मांग की है कंपनी के द्वारा हडपी गयी उनकी मेहनत की कमाई जो कि पिछले एक साल से ना दिए जाने के कारण करीब 28 लाख 64 हज़ार हो गयी है को दिलाने में उनकी मदद करें और कंपनी की जाँच कराकर उचित कार्यवाही करें |

उपश्रमायुक्त बी. के. राय ने श्रमिकों को उनका बकाया दिलाने और कंपनी के खिलाफ कार्यवाही का आश्वासन दिया है, उपश्रमायुक्त ने मीडिया से बात करते हुए कहा अगले 4 दिनों के अन्दर मामले की जन्व्च कराकर सभी श्रमिकों को न्याय दिलाया जायेगा |

रिपोर्ट – अजय सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here