जम्मू-कश्मीर लिब्रेशन फ्रंट के प्रमुख यासिन मलिक गिरफ्तार |

0
22429

 

 

279591-YasinMalikA

श्रीनगर- जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जे के एल ऍफ़) के प्रमुख यासिन मलिक को जम्मू कश्मीर पुलिस ने कल फिर से गिरफ्तार कर लिया है | यासिन मलिक कि गिरफ्तारी के बाद जे के एल ऍफ़ कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच हिन्षक झडपे हुई | जे के एल ऍफ़ कार्यकर्ताओं का आरोप है कि उनके नेता यासिन मलिक को एक 29 साल पुराने मामले में गिरफ्तार किया गया है|

जे के एल ऍफ़ के उपाध्यक्ष बसीर अहमद बट ने आरोप लगाया है कि उनके नेता यासिन मलिक को मजिस्ट्रेट के सामने बिना पेश किये ही श्रीनगर जेल में इस्थानान्तरित कर दिया गया है| पुलिस उक्त मामले में कुछ भी कहने से किनारा काटते हुए नजर आ रही है| सूत्रों के हवाले से प्राप्त खबर के आदर पर बताया जा रहा है कि यासिन मलिक को 1987 में यूनाइटेड फ्रंट की सभा से जुड़े मामले के तहत गिरफ्तार किया गया है | जे के एल ऍफ़ के उपाध्यक्ष बसीर बट ने कहा है कि मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती अपने भाषणों में कहती रही हैं कि अगर 1987 में मुस्लिम यूनाइटेड फ्रंट के लोगों को जनादेश के मुताबिक जीतने दिया जाता तो आज कश्मीर में पूरी अमन होता है दूसरी तरफ आज वह वर्षों पुराने मामलों में मुस्लिम फ्रंट से जुड़े लोगो को जेल भिजवा रही हैं |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here