अंतराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर मुहल्ला बालमभट्ट स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में योग शिविर का आयोजन

0
74


जालौन (ब्यूरो) अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर पंतजलि योग समिति के तत्वावधान में स्थानीय सरस्वती शिशु मंदिर एवं शहीद चंद्रशेखर आजाद पार्क पर दो दिवसीय योग शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें नगर के सैकड़ों लोगों ने योग का प्रशिक्षण प्राप्त कर योगाभ्यास किया।

अंतराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर मुहल्ला बालमभट्ट स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में योग शिविर का आयोजन किया गया। प्रातः साढ़े 5 बजे से 7 बजे तक आयोजित योग शिविर में योग प्रशिक्षक वाचस्पति मिश्रा ने उपस्थितजनों को योग का प्रशिक्षण देते हुए बताया कि यदि प्रत्येक व्यक्ति योग को अपनी दिनचर्या में शमिल कर ले, तो उन्हें बहुत से लाभों की प्राप्ति हो सकती है। योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा से व्यक्ति शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ रह सकता है। प्राणायाम की जानकारी दी। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर सभी लोग नियमित व्यायाम करने का संकल्प लें, क्योंकि योग से हमेशा निरोग रहा जा सकता है। इससे कई बीमारिया खत्म की जा सकती है। योग लोभ, मोह व क्रोध को शांत करता है। जब योग से मन नियंत्रित कर लेते हैं, तो हमारे विचार सकारात्मक रूप से हमारी वाणी में प्रवाहित होने लगते हैं। शिविर में उपस्थित लोगों को कपालभांती, अनुलोम-विलोम, मंडूक आसन, वज्रासन, सूक्ष्मासन आदि का प्रशिक्षण देते हुए योग से होने वाले लाभों के बारे में बताया।

इसके अलावा शहीद चंद्रशेखर आजाद पार्क में आयोजित योग शिविर में योग प्रशिक्षक अजय यादव, अजय बाथम एवं शिवम सिंह सेंगर ने आसन एवं प्राणायाम का प्रशिक्षण देते हुए उसके लाभों के बारे में बताया। योग शिविर में नगर के लगभग तीन सैकड़ा लोगों ने हिस्सा लेकर योग किया। नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारी महेश चंद्र उपाध्याय ने नगर पालिका कर्मियों सहित कार्यक्रम में भाग लिया व योग को सभी के लिए कल्याणकारी बताया। इस मौके पर लक्ष्मण गोविंद हर्षे, सुरेंद्र नारायण पटैरिया, अनिल मित्तल, महेंद्र, रविशंकर, राधेश्याम योगी, भुवनेशजी, अनिल कुमार याज्ञिक, कैलाश बाबू वर्मा देवरी, देवदत्त द्विवेदी, प्रखर सोनी, लखन भदौरिया, हिमांशु, शिवाजी, रामराजा, अभिषेक सोनी, चेतन ओझा, विजय सक्सेना, धीरज साहू, अमन राजावत, अरविंद यादव, कन्हैया लाल, मनोज, सुनील, राहुल, पिंटू, मुन्ना आदि समेत सैंकड़ों लोग उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – अनुराग श्रीवास्तव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY