योगी सरकार की मंशा पर पानी फेर रहे बिजली कर्मचारी, नहीं उठता सरकारी फोन

0
134

अमेठी (ब्यूरो)- जहाँ एक तरफ सूर्य के प्रकाश से दहकती गर्मी और उमश दूसरी तरफ बिजली कर्मचारियों की मनमानी से रात्रि में विद्युत कटौती की दोहरी मर झेल रहे ग्रामीण की सुनवाई करने वाला कोई नहीं दिख रहा है।

दिन में सूर्य की कड़कती धुप तो रात में भारी उमश रहती है जिससे निजात पाने के लिए ग्रामीण विजली का इंतजार करते करते सारी रत गुजार देते है। विजली विभाग का लुकाछिपी का खेल जनता की समझ से बहार है। कब विजली आई कब चली गई यह जनन बड़ा मुश्किल हो जाता है।

अमेठी के फीडर बेनीपुर वाशियो का कहना है की विजली के बारे में जब विद्युत केंद्र अमेठी के मो नंबर 9721337599 पर फोन किया जाता है तो फोन ब्यस्त कर दिया जाता है। यही नहीं जब गौरीगंज मुख्यालय के मो 9415608250 पर फोन किया जाता है तो फोन उठता ही नहीं है। जव की प्रदेश की योगी सरकार का लक्ष्य है की सबका साथ सबका विकाश के अनुसार निर्देश है कि ग्रामीण क्षेत्रो की विद्युत आपूर्ति में रात्रि के समय कटौती न की जाय लेकिन अमेठी विद्युत विभाग पर शासन के निर्देश का कोई असर नहो दिखाई दे रहा है। जिससे ग्रामीणों में काफी आक्रोश है।

अमेठी ही नही विद्युत आपूर्ति में कटौती की शिकायत पूरे जनपद से आ रही है। मुसाफिर विद्युत उपखंड में ग्रामीण क्षेत्र के फीडर दादरा पर यह देखने को मिलता है की एक बार शाम को विजली आती है कुछ समय बाद कट जाती फिर विजली के दर्शन रात्रि में कब होंगे इसका कोई अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है। जब ग्रामीण फोन लगते है तो या तो फोन रिसीव नहीं होगा यदि हो गया तो सीधा सा जवाव मिलता है की विजली गौरीगंज से ही कट गई है।जनता विजली के आशा रात्रि में जागकर गीजर देती है लेकिन विभाग अपने में मस्त जनता त्रस्त है। अब सवाल यह उठता है कि यह विद्युत ग्रामीण क्षेत्र से काट कर कहा भेजी जा रही है किसके हाथो नीलाम हो रही गरीबो के हिस्से की विजली ,कब जागेंगे जिम्मेदार, कब पूरा होगा योगी जी का सबका साथ सबका विकाश का सपना साकार शायद इसका जवाव किसी जिम्मेदार के पास नहीं है।

रिपोर्ट-हरि प्रसाद यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY