वक्फ़ बोर्डों के खिलाफ सख्त हुई योगी सरकार, दिए सीबीआई जांच के आदेश

0
111
प्रतीकात्मक(क्रेडिट- BBC)

लखनऊ (ब्यूरो) प्रदेश में आने के बाद से ही योगी सरकार भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचारियों के खिलाफ काफी सख्त नज़र आ रही है, और प्रदेश में भ्रष्टाचार पर रोक लगाने के लिए जी तोड़ कोशिश कर रही है | ऐसे में कई मामलों में सीबीआई जांच होने की बात भी स्समने आई है इसी कार्यवाही में अब यह तलवार शिया वक्फ बोर्ड के सरपरस्तों के ऊपर लटकती दिखाई दे रही है | योगी सरकार ने बड़ी कार्यवाही करते हुए बोर्ड के छह सदस्यों को पद से हटा दिया है | इन हटाये गए सदस्यों में पूर्व राज्यसभा सांसद अख्तर हसन रिज़वी, मुरादाबाद के सैय्यद वली हैदर, मुज़फ्फरनगर की अफशा ज़ैदी, बरेली के सय्यद अज़ीम हुसैन, शासन में विशेष सचिव नजमुल हसन रिज़वी और आलिमा ज़ैदी के नाम शामिल हैं |

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कहा कि वक्फ बोर्डों के खिलाफ हजारों शिकायतें मिली रही हैं, इनमें फैले भ्रष्टाचार की शिकायत लेकर लोग लगातार आ रहे हैं | न सिर्फ वक्फ बोर्ड के सदस्यों पर बल्कि इनके चेयरमैन पर भी भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं | अल्पसंख्यक मंत्री ने कहा कि मोहसिन रजा पर अनर्गल और गलत आरोप लगाया जा रहे हैं जिसमें कोई तथ्य नहीं है |

आपको बता दे कि योगी सरकार ने सेंट्रल वक्फ कमेटी की रिपोर्ट को आधार बनाकर वक्फ़ बोर्ड के खिलाफ सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं | इस रिपोर्ट में पूर्व सरकार के वरिष्ठ नेता एवं कैबिनेट मंत्री आज़म खान की भूमिका पर सवाल उठाये गए थे |

वक्फ बोर्ड में भ्रष्टाचार को लेकर आज़म खान और उनकी पत्नी के सीबीआई जांच की जद में आने के आसार हैं | सूत्रों के मुताबिक वक्फ बोर्ड की सीबीआई जांच की जद में आज़म खान और उनकी पत्नी आएंगे | जौहर यूनिवर्सिटी में वक्फ की जमीन रजिस्ट्री कराने और प्रभाव का इस्तेमाल कर शत्रु संपत्ति को जौहर यूनिवर्सिटी में शामिल करने के मामले में सीबीआई आज़म खान की भूमिका की जांच करेगी |

रिपोर्ट – मिंटू शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here