ऐक्शन में योगी सरकार: कई नए आदेश, औचक निरीक्षण करने भी पहुंचे सीएम उत्तर प्रदेश

0
277

लखनऊ : यूपी के सीएम का कामकाज संभालने के बाद योगी आदित्यनाथ ऐक्शन में नजर आ रहे हैं। सीएम ने मांस के अवैध कारोबार, बूचड़खानों और गो-तस्करी पर लगाम कसने के लिए हाल ही में कई बड़े आदेश दिए थे। वहीं, यूपी के स्कूल-कॉलेजों के बाहर लड़कियों से छेड़खानी करने वालों से निपटने के लिए एंटी रोमियो स्क्वॉड भी हरकत में है। इसी क्रम में गुरुवार को भी योगी सरकार ने एक के बाद एक कई बड़े फैसले लिए, जिसके बाद यूपी का पुलिस-प्रशासन हरकत में नजर आ रहा है। थाने के औचक निरीक्षण के लिए पहुंचे सीएम पुलिस की सजगता की जांच करने के लिए सीएम आदित्यनाथ गुरुवार को लखनऊ के हजरतगंज कोतवाली पहुंचे। योगी के अचानक कोतवाली पहुंचने के बाद अफसरों और अन्य पुलिसकर्मियों में हड़कंप मच गया।

योगी के साथ डीजीपी जाविद अहमद और कई बड़े अफसर मौजूद थे। सीएम ने थाने के हालात का जायजा लिया और पुलिसवालों को जरूरी निर्देश दिए। सीएम महिला थाने का मुआयना करने के लिए भी पहुंचे। सूत्रों के मुताबिक, योगी के इस औचक दौरे के बारे में कई बड़े अफसरों को पता ही नहीं था। माना जा रहा है कि सीएम इस तरह के कदम उठाकर अफसरों को हमेशा मुस्तैद रहने का मेसेज देने की कोशिश कर रहे हैं। सीएम ने बाद में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि कानून-व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए सभी जरूरी कदम जल्द से जल्द उठाए जाएंगे। स्कूल के माहौल पर भी निर्देश योगी ने स्कूल-कॉलेजों में शिक्षा का माहौल बेहतर करने को लेकर कई अहम निर्देश दिए हैं। सीएम ने आदेश दिया है कि शिक्षक कैजुअल कपड़े पहनकर स्कूल न आएं और अपने लिबास का खास ख्याल करें।

स्कूल परिसर में मोबाइल के बेजा इस्तेमाल पर लगाम सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। इसके अलावा, परिसरों के बाहर शरारती तत्वों से निपटने के लिए पुलिस को गश्त बढ़ाने और जरूरी कदम उठाने के लिए भी कहा गया है। स्कूल-परिसरों में गुटखा और पान के दाग न नजर आएं, इसके लिए जल्द से जल्द कदम उठाए जाने का आदेश भी दिया गया है। वहीं, परीक्षा में नकल रोकने के लिए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए विभिन्न जिलों के डीएम से बात करेंगे। उधर, सूबे के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह भी गुरुवार को अपने विभाग का दौरा करने पहुंचे। यहां उन्होंने खुद फाइलें देखीं और अधिकारियों को निर्देश दिया कि उनका जल्द से जल्द निस्तारण किया जाए। वहीं, डिप्टी सीएम और पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर केशव प्रसाद मौर्य ने अपने विभाग के कर्मचारियों को स्वच्छता और अनुशासन की शपथ दिलाई। उधर, मंत्री उपेंद्र तिवारी ने अपने कर्मचारियों को स्वच्छता का मेसेज देने के लिए खुद झाड़ू लगाया।

हूटर्स और सायरनों पर होगी बंदिश- यूपी सरकार के प्रवक्ता और मिनिस्टर श्रीकांत शर्मा ने बताया कि फाइलों के मूवमेंट पर नजर रखने के लिए फाइल इंडेक्स बनाने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं, सायरनों और हूटर्स के इस्तेमाल को लेकर भी निर्देश दिए गए हैं। राज्य सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बताया कि सायरन और हूटर्स की वजह से ध्वनि प्रदूषण होता है और पब्लिक को भी परेशानी होती है। मंत्रियों से दरख्वास्त की गई है कि वे उनका इस्तेमाल करने से परहेज करें। बूचड़खानों, एंटी रोमियो स्क्वॉड पर सफाई बूचड़खानों पर कार्रवाई कर रही यूपी सरकार ने साफ किया है कि उसका फोकस फिलहाल अवैध बूचड़खानों पर है। हालांकि, यह सभी साफ किया है कि अगर लाइसेंस प्राप्त बूचड़खाने भी नियम तोड़ते हैं तो कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। एंटी रोमियो स्क्वॉड द्वारा आम लोगों को दिक्कत होने की आशंकाओं पर सिंह ने बताया, ‘आदेश दिए गए हैं कि किसी मासूम या कोई अपने फ्रेंड्स के साथ बैठा हो तो उसे तंग नहीं किया जाए।’ सिंह के मुताबिक, एंटी रोमियो स्क्वॉड का मकसद महिलाओं को सुरक्षित महसूस कराना है।

रिपोर्ट-मिंटू शर्मा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here