स्कूलों की बढ़ती फीस पर नहीं है योगी सरकार की नज़र

0
62

उन्नाव(ब्यूरो)- यूँ तो योगी सरकार ने पूरे उत्तर प्रदेश में हलचल मचा कर रख दी है ऐसे में गन्ना किसानों को जल्द भुगतान, किसानों की आलू का 487 रुपये से सरकारी खरीद, ग्रामीण क्षत्रों में ज्यादा से ज्यादा बिजली पहुचाना, पुरे उत्तर प्रदेश में जनता के भवनात्मक मुद्दो पर सरकार सक्रिय भूमिका में नजर आती दिख रही है| ऐसे में पूरे क्षेत्र के कुछ भवनात्मक मुद्दे ऐसे भी है जिसमें क्षेत्र की मासूम जनता पिसती चली आ रही है| जी हां, हम बात कर रहे हैं शिक्षा की जहाँ आज कल सरकारी स्कूल की लचर ब्यवस्था से प्राइवेट स्कूल को बढ़ावा मिल रहा है वही प्राइवेट स्कूल कालेजो की मनमानी से अभिवावकों पर चारो तरफ से मार पड़ रही है| फीस से 25 से 30 प्रतिसत की बढ़ोतरी आम हो चली है।

इसके बाद भी अगर आपको स्कूल ड्रेस लेना है तो स्कूल में ही लीजिए बाजार से चार गुने रेट पर वह भी दो से चार मेल की ड्रेस लेनी अनिवार्य होती है इतना ही नहीं बल्कि अगर आपको बच्चो की बुक्स लेनी है तो या तो आप कालेज में लीजिये या फिर प्राइवेट कालेज किसी एक ऐसी दुकान पर भेजेगा जिस पर कम से कम 50 प्रतिसत का कमिशन आता हो इतना ही नही बल्कि आपको इस तरह की काली कमाई की रसीद भी नही दी जाती है और भुगतान भी एडवांस में ले लिया जाता है इतना ही नही बल्कि बच्चो की सुरक्षा से भी खिलवाड़ करते है ज्यादातर कस्बो व ग्रामीण क्षेत्रो में दूर दराज के बच्चों के लिए आने जाने वाली बस,टेक्सी या रिक्शा इनमे किसी का भी परमिट नही होता है| जो बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए बहुत बड़ा अपराध करते है । बहुत सारे विद्यालय में मंथली फीस के अलावा बहुत से चार्ज जोड़ जिए जाते। जबकि स्कूल कालेजो की मनमानी को लेकर जिला प्रशासन ने शख्ती जाहिर की है स्कूल कालेजो की मनमानी को लेकर य उससे सम्बन्धित शिकायत दर्ज के लिए हेल्प लाइन भी सार्वजनिक होंगे।

रिपोर्ट- रामजी गुप्ता

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY