युवक ने फरसे से पत्नी और नाबालिक पर किया हमला

0
68

मऊरानीपुर(झाॅसी)- एक सिर फिरे युवक ने अपनी पत्नि और 8 साल के बच्चे को फरसे से जानलेवा हमला कर दिया। उसी समय महिला का भाई घटना स्थल पर पहुंच गया जिसके शोर मचाने पर लोगों ने दोनों की जान बचा ली लेकिन धारदार हथियार से हमले में पत्नी और बालक बुरी तरह जख्मी हो गए जिसके बाद उन्हे अस्पताल भेजा गया।

कहते हैं कि खुद के बच्चे इंसान को जान से ज्यादा प्यारे होते है लेकिन जो घटना आज सामने आयी उससे सुनने के बाद आपका कलेजा कांप उठेगा| मऊरानीपुर तहसील के थाना उल्दन के ग्राम पचवारा के रहने वाले एक सिरफिरे युवक दिग्विजय ने अपने ही कलेजे के टुकडे और अपनी पत्नि को जान से मारने की कोशिश की। आज दोपहर करीब 2 बजे दिग्विजय नामक युवक ने अपनी पत्नि बालकुंवर और 8 वर्षीय बेटे विशाल को फरसे से वार कर दिया।

दरअल दिग्विजय और उसकी पत्नि बालकुंवर के बीच घरेलू बातों पर अक्सर ही झगड़ा होता था, 15 दिन पहले भी दोनो के बीच झगड़ा हुआ, जिसके बाद से ही बालकुंवर अपने मायके बरुआमाफ चली गयी थी। आज बालकुंवर अपने बेटे विशाल का इलाज कराने के लिए मऊरानीपुर आई, लेकिन जब वो इलाज कराकर वापिस अपने मायके बरुआमाफ गयी, तो पहले से ही घात लगाए बैठे दिग्विजय ने बालकुंवर और अपने मासूम बेटे पर फरसे से वार कर दिया।

इस हमले से मां और मासूम बेटा बुरी तरह लहूलुहान हो गए। दिग्विजय द्वारा किए गए इस अचानक प्रहार से वहां मौजूद सभी लोग सकते में आ गए। बस स्टाप पर बालकुंवर का भाई अपनी बहन और भांजे को लेने आया था। जब उसने देखा कि उसका जीजा यानि दिग्विजय उसकी बहन और भांजे पर फरसे से वार कर रहा है, तो गोविंद दास ने मदद के लिए लोगों से चीखने पुकार करने लगा। चीख पुकार सुनकर वहां मौजूद लोग बालकुंवर और उसके बच्चे की जान बचाने के लिए दौडे, लेकिन जब तक लोग उनकी मदद के लिए पहुंचे तब तक दिग्विजय ने फरसा मारकर दोनों को बुरी तरह लहुलुहान कर दिया। लोगों ने दोनो घायल मां-बेटे को इलाज के लिए मऊरानीपुर अस्पताल पहुंचाया, जहां से हालत गंभीर होने पर दोनो को झांसी रिफर कर दिया गया है। सूत्रों के हवाले से ये भी खबर आई है कि पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर कार्यवाही शुरु कर दी है।

रिपोर्ट- रवि परिहार 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY