किशोरी से दुष्कर्म के मामले में युवक को उम्रकैद

0
67

सुल्तानपुर (ब्यूरो) –घर में घुसकर किशोरी से जबरन दुष्कर्म एवं मारपीट के मामले में स्पेशल जज पाक्सो एक्ट की अदालत ने दोष सिद्ध आरोपी को उम्र कैद एवं तीस हजार रूपये अर्थदंड की सजा सुनाई है। स्पेशल जज रामपाल सिंह ने पीड़िता को अर्थदंड की राशि में से 25 हजार रूपये क्षतिपूर्ति के रूप में देने का भी आदेश पारित किया है। मामला मुसाफिरखाना कोतवाली क्षेत्र के त्रिलोकीपुर गांव से जुड़ा है। जहां के रहने वाले नन्हेलाल के खिलाफ 15 वर्षीय पीडि़ता किशोरी के पिता ने 14 मार्च 2014 को मुकदमा दर्ज कराया। आरोप के मुताबिक अभियोगी अपने ससुराल में निवासे पर रहता है, जो कि घटना के दिन धम्मौर थाना क्षेत्र स्थित अपने मूल निवास पर चला गया था। उसकी सास भी घटना के दौरान खेत चली गयी थी। लड़का भी मजदूरी करने निकला था, इसी दौरान मौका पाकर आरोपी नन्हेलाल अभियोगी के घर में घुस गया और किशोरी को निर्वस्त्र कर जबरन दुष्कर्म किया।

विरोध करने पर आरोपी ने पीडि़ता को मारापीटा भी। शोर शराबा सुनकर गांव वाले पहुंचे तो आरोपी भाग खड़ा हुआ। इस मामले का विचारण स्पेशल जज पाक्सो एक्ट की अदालत में चला। इस दौरान बचाव पक्ष ने अपने साक्ष्यों एवं तर्कों को पेश किया। वहीं अभियोजन पक्ष से शासकीय अधिवक्ता तारकेश्वर सिंह ने सात गवाहों को परीक्षित कराया। उभयपक्षों को सुनने के पश्चात स्पेशल जज रामपाल सिंह ने आरोपी नन्हेलाल को दुष्कर्म के आरोप में दोष सिद्ध करने के बजाय घर में घुसकर मारपीट करने एवं पाक्सो एक्ट की धारा में बीते सात सितम्बर को ही दोषसिद्ध करार दिया था। जिसकी सजा की विंदु पर सुनवाई के लिए दस सितम्बर की तिथि नियत की गयी थी। अदालत ने दोष सिद्ध नन्हेलाल के खिलाफ लगे आरोप की गंभीरता एवं अपराध की प्रकृति को दृष्टिगत रखते हुए पाक्सोएक्ट की धारा में अधिकतम सुनायी जा सकने वाली सजा उम्रकैद के दंड से दंडित किया है। अदालत ने तीस हजार रूपये अर्थदंड की सजा भी सुनाई है। अर्थदंड की धनराशि में से 25 हजार रूपये पीड़िता के मानसिक एवं शारीरिक क्षतिपूर्ति के रूप में देने का भी आदेश पारित किया।

रिपोर्ट – अंकुश यादव 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here